बाल विकास(CDP) के महत्वपूर्ण कथन

बाल विकास(CDP) के महत्वपूर्ण कथन 

इस पोस्ट में बाल विकास(CDP ) के महत्वपूर्ण कथन है जो की UPTET,CTET and other state tet  में आते है|
बाल विकास(CDP)-के-महत्वपूर्ण-कथन


1.बाल मनोविज्ञान वह वैज्ञानिक अध्ययन है जो व्यक्ति के विकास का अध्ययन गर्भ काल के प्रारंभ से किशोरावस्था की प्रारंभिक अवस्था तक करता है|— क्रो एवं क्रो
2.बाल मनोविज्ञान मनोविज्ञान की वह शाखा है इसमें जन्म से परिपक्व अवस्था तक विकसित हो रहे मनुष्य का अध्ययन किया जाता है—- ड्रेवर
3.बुद्धि कार्य करने की विधि है —वुड वर्थ
4.व्यक्तिगत एवं व्यक्ति के गठन व्यापार के तरीकों ,रुचिओं ,दृष्टिकोण, छमताओ और तरीकों का सबसे विशिष्ट संगठन है —मन
5.व्यक्तिगत विभिन्नता में संपूर्ण व्यक्तित्व का कोई भी ऐसा पहलू सम्मिलित हो सकता है जिसका माप किया जा सकता है |—स्किनेर
6.कल्पना दूरस्थ वस्तुओं के संबंध का चिंतन है|–मकड़ुग्गल
7.चिंतन एक प्रकार का अव्यक्त एवं रहस्य पूर्ण व्यवहार होता है जिसमें सामान्य रूप से प्रतीकों का प्रयोग होता है —गेरेट
8.मन में किसी उद्देश्य एवं लाभ को रखकर क्रमानुसार चिंतन करना तर्क है—गेरेट
9.वंशानुक्रम माता-पिता से संतान को प्राप्त करने वाले गुणों का नाम है–रूथ बेनाएडिक्ट
10. मेंडल का नियम प्रत्यागमन को स्पष्ट करता है—मेंडल

11.बुद्धि इन चार शब्दों में निहित है ज्ञान, आविष्कार, निर्देश, आलोचना बिने

12.बुद्धि वह शक्ति है जो हमको समस्याओं का समाधान करने और उदरेश्मों को प्राप्त करने की क्षमता देती है।-रायबन

13.बुद्धि समायोजन, अधिगम और अमृत चिंतन की योग्यता है ।-फ्रीमैन 

14.बच्चा  को  जो  कुछ बनना होता है  वह शुरुवाती 4 – 5  वर्षो  में बन  जाता है। –सिग्मंड फ्रायड 

15 .”मुझे नवजात शिशु दे दो। मैं उसे डॉक्टर, वकील, चोर या जो चाहूँ बना सकता हूँ।” –वाटसन 

16  “बाल मनोविज्ञान एक वैज्ञानिक अध्ययन है, जिसमें बालक के जन्म के पूर्व काल से लेकर उसकी किशोरावस्था तक का अध्ययन किया जाता है।”-.क्रो एवं क्रो ने 

17 .”शिक्षा एक त्रिध्रुवीय प्रणाली है, जिसके अन्तर्गत शिक्षा, बालक एवं पाठ्यक्रम आते हैं ।”-जॉन डीवी. 

18 .”विस्मरण वह प्रवृत्ति है, जिसके द्वारा दुःखद अनुभवों को स्मृति से अलग कर दिया जाता है।”-सिग्मंड फ्रायड

19  “बालक का विकास आनुवंशिकता तथा वातावरण का गुणनफल है।”-वुडवर्थ 

20 .“चिंतन संज्ञानात्मक पक्ष में एक मानसिक क्रिया है।-रॉस 

21. “बालक एक ऐसी पुस्तक शिक्षक को अद्योपान्त अध्ययन करना चाहिए।”-रूसो

22.’संवेग व्यक्ति की उत्तेजित दशा है’-वुडवर्थ 

23.मनोविज्ञान शिक्षा का आधारभूत विज्ञान है-स्किनर

24.किशोरावस्था बडे सघर्ष, तनाव व तुफान की अवस्था है।-स्टेनले हॅाल

25.मनोविज्ञान व्यवहार का शुद्ध  ,निश्चित ,सकारात्मक विज्ञान है ।-वाटसन 
TELEGRAM LINK:-

👉Join Here – PDF Other Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को Join कर सकते हैं |👈

    Rate this post