बाल विकास एवम सीखने की प्रक्रिया (CDP) के Important Objectives Part-22

बाल विकास एवम सीखने की प्रक्रिया (CDP) के महत्वपूर्ण बहुविकल्पीय प्रश्न

In this post, Examsaga provides CDP objective questions series for ctet, uptet, htet, btet, kvs, and others tet. Here Examsaga includes some of the previous years ctet Baal Vikas questions.



previous year ctet  Baal Vikas questions.



1. वाइगोत्सकी के अनुसार, बच्चे साथी-समूह के सक्रिय सदस्य कब होते हैं?
I) पूर्व बाल्यावस्था 
(2) बाल्यावस्था
(3) किशोरावस्था 
4) प्रौढ़ावस्था

ANS:3

2. निम्नलिखित में से किसने सामाजिक विकास का सिद्धांत दिया है?
1) पियाजे
2) कोहलबर्ग 
3) वाइगोत्सकी
4) टेलर 

ANS:3

3॰ वाइगोत्सकी के अनुसार, किसी बालक के विकास में सबसे महत्वपूर्ण योगदान निम्न में से किसका होता है?
1) परिवार का
2) विद्यालय का
3) समाज का
4) धर्म का

ANS:3

4. वाइगोत्सकी के अनुसार,_____ के बाद____ में लिंग सम्बन्धी चेतना_____हो जाती है। 
1) किशोरावस्था, प्रौढ़ावस्था, कम
2) बाल्यावस्था, किशोरावस्था, कम 
3) बाल्यावस्था, किशोरावस्था, तीव्र 
4) बाल्यावस्था, प्रौढ़ावस्था, तीव्र

ANS:3

5. वाइगोत्स्की के सामाजिक विकास के सिद्धान्त के अनुसार बालक को ______ में जिस प्रकार की____ प्राप्त होंगी| उसका____ भी उसी प्रकार होगा।
1) विद्यालय, पुस्तकें, विकास
2) समाज, सुविधाएँ, विकास
3) विद्यालय, सुविधाएँ, विकास 
4) परिवार, सम्पत्ति, विकास

ANS:2

6. निम्नलिखित में कौन-सी अवस्था संवेगों (भावों) की तीव्र अभिव्यक्ति की अवस्था है?
1) बाल्यावस्था 
2) किशोरावस्था
3) प्रौढ़ावस्था
4) उत्तर बाल्यावस्था
ANS:2

7. पियाजे के सिद्धान्त के अनुसार, बच्चे निम्न में से किसके द्वारा सीखते हैं?  [CTET Feb 2015]

1)सही प्रकार से ध्यान लगाकर जानकारी को याद करना
2)उपयुक्त पुरस्कार दिए जाने पर अपने व्यवहार में परिवर्तन करना
3)समाज के अधिक योग्य सदस्यों के द्वारा उपलब्ध कराए गए सहारे के आधार पर
4)अनुकूलन की प्रक्रिया

ANS:4

8. पियाजे अनुमोदन करते हैं कि पूर्व-संक्रियात्मक बच्चे याद रखने में असमर्थ होते हैं। निम्नलिखित कारकों में से किसको उन्होंने इस असमर्थता के लिए जिम्मेदार ठहराया है? [CTET Feb 2015] 
(1) परिकल्पित-निगमनात्मक तार्किकता की अयोग्यता
(2) उच्च स्तर की अमूर्त तार्किकता की कमी 
(3) व्यक्तिगत कल्पित कथा 
(4) विचार की अनुक्रमणीयता (पलट न सके)

ANS:4

9. कोहलबर्ग के सिद्धान्त की एक प्रमुख आलोचना क्या है? [CTET Feb 2015]
 (1) कोहलबर्ग ने बिना किसी अनुभूतिमूलक आधार के सिद्धान्त प्रस्तुत किया 
(2) कोहलबर्ग का नैतिक विकास की स्पष्ट अवस्थाओं का उल्लेख नहीं किया
(3) कोहलबर्ग ने प्रस्ताव दिया कि नैतिक तार्किकता विकासात्मक है 
(4) कोहलबर्ग ने पुरुषों एवं महिलाओं की नैतिक तार्किकता में सांस्कृतिक विभिन्नताओं को महत्त्व नहीं दिया

ANS:4

10. निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा वाइगोत्सकी के द्वारा प्रस्तावित विकास तथा अधिगम के बीच सम्बन्ध का सर्वश्रेष्ठ रूप में सार प्रस्तुत करता है?  [CTET Feb 2015]

1।विकास अधिगम से स्वाधीनता है 
(2) अधिगम एवं विकास समानान्तर प्रक्रियाएँ हैं
3॰विकास प्रक्रिया, अधिगम प्रक्रिया से पीछे रह जाती है
4। विकास अधिगम का समानार्थक है

ANS:3

Also Read-

TELEGRAM LINK:-

👉Join Here – PDF Other Study Material पाने के लिये अब आप हमारे Telegram Channel को Join कर सकते हैं |👈
Rate this post